श्रद्धा मर्डर केस: 5 राज्यों में जांच कर रही पुलिस की टीम, ताकि मिल सके सबूत

देश

दिल्ली। श्रद्धा मर्डर केस में आरोपी आफताब ने भले ही पुलिस के सामने अपना गुनाह कुबूल कर लिया हो, लेकिन मर्डर मिस्ट्री अभी भी उलझी हुई है. दिल्ली पुलिस को आशंका है कि आफताब ने साजिश के तहत श्रद्धा की दिल्ली में हत्या की और यह पूरी साजिश हिमाचल में रची गई. लेकिन दिल्ली पुलिस के हाथ अभी भी ऐसे सबूत लगने बाकी हैं, जिनसे वह कोर्ट में आफताब को दोषी सिद्ध कर सके. दिल्ली पुलिस की टीमें इस गुत्थी को पूरी तरह से सुलझाने और सभी सबूतों को खोजने के लिए 5 राज्यों में भटकती घूम रही हैं. जहां दिल्ली के अलग अलग इलाकों में श्रद्धा के शव के टुकड़ों की तलाश हो रही,

तो वहीं मुंबई में श्रद्धा के मोबाइल की. इतना ही नहीं मुंबई में श्रद्धा और आफताब के करीबियों से भी पूछताछ चल रही है. इधर, गुरुग्राम में भी पुलिस कई बार श्रद्धा की हत्या में इस्तेमाल हथियारों की तलाश में जांच कर चुकी है. आफताब ने पूछताछ में बताया कि उसने श्रद्धा की हत्या कर शव के 35 टुकड़े किए. इसके बाद उसने शव के 35 टुकड़े किए और इन्हें एक एक कर महरौली के जंगलों में फेंका. पुलिस महरौली के जंगलों में लगातार आफताब की बताई जगह पर तलाश कर रही है. पुलिस को महरौली से शुरुआत में शव के 13 टुकड़े मिले थे.

इसके कुछ दिन बाद महरौली में पुलिस को एक मानव जबड़ा और तीन हड्डियां मिली थीं. इन सभी को फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है. ताकि यह पता चल सके कि ये श्रद्धा के शव के टुकड़े हैं या नहीं. हालांकि, अभी दिल्ली पुलिस श्रद्धा के शव के बाकी टुकड़ों की तलाश में महरौली के जंगलों में लगातार जांच कर रही है. आफताब ने पूछताछ में बताया था कि उसने श्रद्धा का कटा हुआ सिर और बाकी हिस्से मैदानगढ़ी के तालाब में फेंके. इसके बाद से दिल्ली पुलिस की टीम गोताखोरों की मदद से लगातार मैदानगढ़ी के तालाब में सिर की तलाश में जुटी है. हालांकि, पुलिस को तालाब से कुछ हिस्से जरूर मिले थे. इन्हें भी जांच के लिए भेजा गया है, हालांकि, ये श्रद्धा के थे, या नहीं इसकी जांच की जा रही है.

इससे पहले आफताब ने पूछताछ में दिल्ली पुलिस को बताया था कि उसने श्रद्धा मर्डर में इस्तमाल आरी और ब्लेड को गुरुग्राम की DLF फेज 3 की झाड़ियो में फेंका है. वहीं, चापड़ उसने महरौली के 100 फीट रोड स्थित कूड़ेदान में फेंक दिया था. दिल्ली पुलिस की टीम 2 बार गुरुग्राम में उन झाड़ियो की जांच कर चुकी है. 18 नवंबर को यहां जांच के बाद दिल्ली पुलिस की टीम गुरुग्राम की झाड़ियो से कुछ सबूत लेकर निकली थी, जिसे CFSL जांच के लिए भेजा गया है. इसके बाद 19 नवंबर की जांच में दिल्ली पुलिस मेटल डिटेक्टर के साथ गुरुग्राम गई थी, लेकिन उस दिन दिल्ली पुलिस खाली हाथ ही वापस लौटी. दिल्ली पुलिस लगातार श्रद्धा के शव के टुकड़ों की तलाश में जुटी है. इसके लिए महरौली के जंगलों से लेकर मैदानगढ़ी के तालाब तक में तलाश की जा रही है. पुलिस को अब तक शव के 16 टुकड़े और एक जबड़ा मिला है.

हालांकि, अभी ये पुष्टि नहीं हो पाई है कि ये श्रद्धा के हैं या नहीं. इन सबके बीच फरीदाबाद में गुरुवार को अरावली हिल्स के पास पाली रोड पर ट्राली बैग में शव के टुकड़े मिले. इसके बाद दिल्ली पुलिस भी जांच के लिए पहुंच गई, ताकि यह पता लगाया जा सके कि कहीं ये शव के टुड़े श्रद्धा के तो नहीं. इसके बाद फॉरेंसिक टीम को भी बुलाया गया. हालांकि, बाद में महरौली पुलिस ने ये टुकड़े श्रद्धा के शव के होने से इनकार कर दिए. बताया जा रहा है कि ये शव के टुकड़े 2 महीने पुराने हैं. हालांकि, अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि ये पुरुष के हैं या महिला के. इसी बीच गुरुवार को दिल्ली पुलिस ने आफताब के महरौली स्थित फ्लैट से 5 चाकू बरामद किए हैं.

दिल्ली पुलिस का दावा है कि आफताब ने श्रद्धा की हत्या के बाद शव को काटने में इनका भी इस्तेमाल किया है. सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली पुलिस को आफताब के फ्लैट से 5 चाकू मिले हैं. इन सभी को जांच के लिए फॉरेंसिक लैब भेजा गया है. ताकि यह साफ हो जाए कि इनका इस्तेमाल श्रद्धा के शव को काटने में किया गया है, या नहीं. श्रद्धा मर्डर केस में हर एंगल से जांच में जुटी दिल्ली पुलिस की टीमें पिछले दिनों हिमाचल और उत्तराखंड भी पहुंची थीं.

दिल्ली पुलिस की टीम कुल्लू भी पहुंची थी. यहां पुलिस ने तोष गांव पहुंची थी, जहां हत्या से कुछ दिन पहले आफताब और श्रद्धा घूमने गए थे. यहीं आफताब दिल्ली के महरौली में रहने वाले बद्री से मिला था. बद्री ने ही आफताब को महरौली में फ्लैट दिलाया था. जहां उसने श्रद्धा की हत्या की. इतना ही नहीं दिल्ली पुलिस की एक टीम पिछले दिनों ऋषिकेश भी पहुंची थी. ऋषिकेश में पुलिस उस जगह भी गई थी, जहां गंगा के किनारे बैठकर श्रद्धा ने आखिरी रील बनाई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *