पटना: बिहटा में हुए हत्या मामले में पुलिस ने किया उद्भेदन गर्लफ्रेंड के अश्लील फोटो और वीडियो के विवाद को लेकर दोस्त ने ही अपने दोस्त की रची थी हत्या की साजिश,पुलिस ने दो को किया गिरफ्तार।

बिहार

ब्यूरो चीफ पटना निशांत सिंह

राजधानी पटना से सटे बिहटा थाना इलाके में बीते 22 अगस्त को 25 वर्षीय युवक शिवम किशोर की हुई गोली मारकर हत्या की कहानी का पटना पुलिस ने गुरुवार को खुलासा कर दिया है। जिसमे हत्या में शामिल मृतक युवक के दो दोस्तों को पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है


वही इस मामले का उद्भेदन करते हुए बिहटा थानाअध्यक्ष रंजीत कुमार ने बताया कि बीते 22 अगस्त को थाना क्षेत्र के किशुनपुर गांव के खेत से पुलिस ने मृतक युवक के शव को बरामद किया था जहां जांच के क्रम में युवक की गोली मारकर हत्या की गई थी। जहां पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज करते हुए जांच शुरू की तो मामले में कुछ और ही सामने आया जहां मृतक युवक शिवम किशोर के पांच दोस्तों ने मिलकर शिवम की हत्या की साजिश रची थी

जिसमें दो दोस्तों को पुलिस ने गिरफ्तार किया जिसकी पहचान बिहटा थानाक्षेत्र के मोहरमपुर गांव निवासी सोनू उर्फ रॉकी एवं दिलकुश कुमार के रूप में हुई है जबकि इस मामले में मुख्य आरोपी किशुनपुर गांव निवासी छोटू एवं उसके अन्य दो साथी सुमित एवं आदित्य अभी फरार है जिसकी गिरफ्तारी में पुलिस की टीम लगी हुई है।

आगे थानाध्यक्ष ने बताया कि गिरफ्तार दोनों आरोपी से जब पूछताछ की गई तो मामला कुछ और ही सामने आया जहां पूछताछ में आरोपी सोनू उर्फ रॉकी ने बताया कि छोटू की गर्लफ्रेंड का अश्लील फोटो और वीडियो शिवम किशोर के पास था वायरल करने को लेकर आए दिन वो छोटू को ब्लैकमेल कर रहा था

इसके अलावा स्मैक कारोबार को लेकर भी पैसा का विवाद भी चल रहा था ।जिससे तंग आकर छोटू ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर शिवम किशोर की हत्या का पूरा कहानी लिखा गया जहां किशूनपुर गांव के सुनसान इलाके में शिवम किशोर को छोटू ने बुलाया और उसकी गोली मारकर हत्या कर दी। हालांकि इस हत्या मामले में उपयोग की गई हथियार पुलिस के हाथ नहीं लगी है जिसकी बरामदगी के लिए पुलिस की टीम छापेमारी कर रही है।

गौरतलब हो कि बिहटा थानाक्षेत्र किशुनपुर गांव के खेत से बिहटा पुलिस ने सुबह में एक 25 वर्षीय युवक शिवम किशोर का शव को बरामद कर थाना ले आई थी जहां मृतक के परिजनों ने हत्या के पीछे जमीनी विवाद बताते हुए थाने में 7 लोगों को हत्या में नामजद किया था। लेकिन जब इस हत्या की मामले की जांच शुरू हुई तो मामला कुछ और ही सामने आया फिलहाल पुलिस ने इस मामले का उद्भेदन कर दिया है अब देखना होगा कि इस मामले में मुख्य आरोपी छोटू कुमार और उसके दो अन्य साथियों को पुलिस कब तक गिरफ्तार करती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *