बलात्कार, धोखाधड़ी, और जालसाजी के 19 मामलों में आरोपी राजू………..

क्राइम

कार्तिक सिंह जिस राजू के अपहरण के मामले में आरोपी है. वह राजू खुद भी कई मामलों में आरोपी है. दिव्या सिंह भले कह रही हों कि राजू के खिलाफ कोई आपराधिक मामला नहीं है लेकिन राजू के खिलाफ पटना, दिल्ली सहित अन्य जगहों पर कई मामले दर्ज हैं. इसमें एक मामला बलात्कार का है जबकि अधिकांश मामले लाखों-करोड़ों रुपए के धोखाधड़ी और जालसाजी से जुड़े हैं. अपराधिक इतिहास रखने वाला राजू सिंह इसी कारण जेल में बंद है. 8 अक्टूबर 2021 पटना की एक अदालत ने राजू से जुड़े एक मामले में उसकी जमानत याचिका यही कहकर ख़ारिज की थी कि राजू संगीन आरोपों में अभियुक्त रहा है.

दरअसल, राजू के खिलाफ कुल 19 मामलों का जिक्र है जिसमें पटना के श्रीकृष्णापुरी थाना में कांड संख्या 188/2011, गौरीचक थाना में कांड संख्या 74/2011, श्रीकृष्णापुरी थाना में कांड संख्या 445/2014, 371/2013 तथा पाटलीपुत्रा थाना में कांड संख्या 256/2019 दर्ज है. राजू सिंह पर दर्ज ये मामले आईपीसी की धारा 420, 467, 468, 471 से संबंधित है. इसी तरह राजू सिंह के विरूद्ध परक्राम्य लिखत अधिनियम की धारा 138 एवं आईपीसी की धारा 406, 420 के तीन मामले तथा कालकाजी थाना नई दिल्ली में केस संख्या 405/2013 आईपीसी की धारा 376 के अंतर्गत मामला दर्ज है। दिल्ली में दर्ज आईपीसी की धारा 376 का यह मामला बलात्कार से जुड़ा है. राजू सिंह के खिलाफ उल्लिखित अन्य मामलों में मारपीट, अपहरण, उद्यापन एवं चोरी से संबंधित है.

राजू सिंह पर दर्ज कोतवाली थाना कांड संख्या 380/2016 का मामला तीन करोड़ अठासी लाख पचासी हजार रुपए की धोखाधड़ी और जालसाजी से जुड़ा है. न्यायालय, अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश-प्रथम, पटना ने 8 अक्टूबर 2021 को राजू से जुड़े जमानत मामले की सुनवाई करते हुए कहा था कि राजू पर 19 मामले दर्ज हैं जो अपहरण, धोखाधड़ी, मारपीट, चोरी और बलात्कार जैसे संगीन आरोपों से जुड़ा है. यह दर्शित करता है कि राजू सिंह अभियुक्त पर हर प्रकृति के मामले संस्थित है. कोर्ट ने कोतवाली थाना कांड संख्या 380/2016 में इसी संदर्भ का जिक्र करते हुए राजू की जमानत याचिका ख़ारिज कर दी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.