नालंदा: इमामगंज पंचायत के तूफानगंज गांव बेहतर समाज बनाने के लिए बाल विवाह एवं बाल श्रम की रोकथाम के लिए माता समिति के साथ की गयी बैठक।

बिहार

ब्यूरो चीफ विरेन्दर कुमार

रहुई प्रखंड अंतर्गत इमामगंज पंचायत के तूफानगंज गांव के समुदाय भवन आंगनवाड़ी केंद्र कोड-93 को माता समिति के साथ उड़ान परियोजना सेव द चिल्ड्रेन/ यूनिसेफ के प्रखंड समन्वयक सुधा कुमारी और आंगनवाडी सेविका के सहयोग से बैठक किया गया। समाज के नई पीढ़ियों में बदलाव लाने के लिए हमलोगों को हमेशा अपने तथा परिवेश के बच्चों पर ध्यान देने की आवश्यकता है।

सामाजिक कार्यकर्ता के साथ बैठक कर बाल विवाह, बाल श्रम के लिए जागरूकता फैलाने को लेकर आज से निर्णय लिया कि बच्चों के सफल भविष्य बनाने में माता का अहम भूमिका है जिसे हमलोग घर से लागू करेंगे।पुनःवार्ड/पंचायत स्तरीय बाल संरक्षण समिति पर भी चर्चा की गई।

जिसमें समिति के अध्यक्ष मुखिया जी,उपाध्यक्ष उपमुखिया ,सचिव आगनवाड़ी पर्यवेक्षिका तथा पंचायत स्तरीय और सभी हितधारक सदस्य होते हैं यह भी चर्चा की गई कि इस समिति में पंचायत के सभी हितधारकों की सदस्यता बच्चे सम्बन्धित खतरे को समाधान के लिये चयनित होते हैं।

पुनः 18 वर्ष से नीचे के व्यक्ति को बच्चा कहते हैं, संयुक्त राष्ट्र संघ में बाल अधिकार समझौता विश्व स्तरीय 1989 में हुई थी जिसमें 54 बाल अधिकार पारित किए गए थे उसमें से मुख्य चार बाल अधिकार जीने का,विकास का, सुरक्षा का एवं सहभागिता का अधिकार पर विस्तार से जानकारी देने के बाद, बाल श्रम, बाल शोषण, बाल व्यापार , बाल विवाह इत्यादि से हाने वाली समस्याओं पर चर्चा करते हुए निजात हेतु समाज में व्यवहारिक परिवर्तन लाने की बात की गई।

पुनःमुफ्त शिक्षा का अधिकार 2009 से लागू है इस पर भी विस्तृत जानकारी दी गई और बाल श्रम हेतु कानूनी जुर्माना 20 हजार से 50 हजार तक हो सकती है तथा बाल विवाह हेतु कानूनी प्रावधान जो कि बाल विवाह में सम्मलित कोई भी पुरूष जैसे- पण्डित, बाराती एवं शराती पार्टी और कोई अन्य पुरुष हों तो उन्हें एक लाख रुपये का जुर्माना और दो वर्ष का सश्रम कारावास हो सकता है तथा महिला की स्थिति में केवल एक लाख जुर्माना निहित है।


समस्याओं से निजात हेतु चाइल्ड लाईन नम्बर-1098, महिला हेल्प लाइन नम्बर-181 एवं बाल श्रम हेतु व्हाट्सएप नम्बर- 9471229133 ,पुलिस नम्बर -100 इत्यादि पर विस्तार से जानकारी दी गई। सामाजिक सुरक्षा योजना सम्बंधित कन्या सुरक्षा योजना, मातृ वन्दन योजना, कन्या उत्त्थान योजना, कौशल विकास, स्टूडेंट्स क्रेडिट कार्ड, आँगन वाड़ी योजना, विद्यालय योजना, छात्रवृत्ति योजना अन्य पंचायत स्तरीय मनरेगा इत्यादि, परवरिश, स्पॉन्सरशिप, विवाह योजना ,जन्म पंजीकरण,विवाह पंजीकरण, प्रवासी मजदूर पंजीकरण ई श्रम कार्ड,राशन कार्ड इत्यादि पर विस्तृत चर्चा खुले सत्र में की गई।वार्ड/पंचायत स्तरीय बच्चों सबंधित खतरों से निजात हेतु सूची तैयार करने के लिए बताई गई।

अंत में बाल विवाह एवं बाल श्रम की रोकथाम और कोरोना से प्राथमिक बचाव हेतु शपथ लेकर किया गया। इस मौके पर आंगनवाड़ी सेविका सुधा सिन्हा,कुमारी रिंकू,रंजन देवी,सुनीता देवी, वार्ड सदस्य मनोरमा देवी, देवी,इंदु देवी इत्यादि की सफल भागीदारी रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *