खुलासा : नशेड़ी युवक ने वृद्धमहिला की गर्दन काट कर दी थी हत्या, 5 वार में धड़ से अलग कर दिया था सिर

Breaking news

समस्तीपुर पुलिस ने सरायरंजन थाना क्षेत्र के झखरा गांव

में हुई सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा कर लिया है। सरायरंजन थानाध्यक्ष एवं उनकी टीम ने मात्र 24 घंटे के अंदर इस घटना को अंजाम देने वाले हत्यारे को गिरफ्तार भी कर लिया है। इस नृशंस हत्याकांड को उस महिला के ही एक नशेड़ी पड़ोसी ने अंजाम दिया था। जिसकी पहचान गांव के ही गनपत कुंवर के रूप में की गई है।मंगलवार को नगर थाना पर आयोजित प्रेसवार्ता में
एएसपी संजय कुमार पांडेय ने इसका खुलासा
किया है। उन्होंने बताया कि नशा करके दुकान पर
आने से मना करने के कारण उसने गुस्से में वृद्ध
महिला की गर्दन काट कर हत्या कर दी। पूछताछ क
दौरान गिरफ्तार युवक ने घटना में अपनी संलिप्तता
तो स्वीकार की ही साथ ही जिस हथियार से घटना
को अंजाम दिया, वह भी बरामद कराया। पुलिस ने
उसके खून से सने कपड़े एवं मृत महिला के मोबाइल
भी बरामद कर लिए हैं, जिसे घटना के समय उसने
पहन रखा था।पुलिस को पूछताछ के दौरान उसने बताया कि वह महिला को किसी बहाने घर से बुलाकर खेत में ले गया और लोहे के पघरिया (धारदार हथियार) से ताबड़तोड़ उसके गर्दन पर वार करने लगा। 5 वार में ही सिर को धड़ से अलग कर दिया। इस घटना को अंजाम देते वक्त वह नशे में था। गिरफ्तार अभियुक्त ने पुलिस को बताया कि मृत महिला अपने दरवाजे पर छोटी सी दुकान खोल रखी थी। वह अक्सर उसके घर आता जाता रहता था।नशापान करके दुकान पर गुटखा लेने के लिए आने के कारण महिला उसके साथ अक्सर गाली गलौज किया करती थी। जिससे वह आजिज हो गया था। घटना की रात वह नशे की हालत में महिला को घर से बाहर बुलाकर खेत में ले गया और वहाँ हाथ बांधकर उसके गर्दन पर पघड़िया से ताबड़तोड़ वार शुरू कर दी। 5 वार में ही सिर कटकर अलग हो गया। इसके बाद वह वहां से फरार हो गया।वैसे पुलिस गिरफ्तार आरोपी के स्वीकारोक्ति पर फिलहाल पूरा विश्वास नहीं कर रही है। एएसपी का कहना है कि इस मामले पर अभी भी पूरी बारीकी से अनुसंधान जारी है। जिस तरह से घटना को अंजाम दिया गया है, उससे प्रतीत होता है कि इस घटना में और भी आदमी शामिल हो सकते हैं। पुलिस फिलहाल दूसरी बिंदुओं पर भी जांच कर रही है। एएसपी ने बताया कि घटनास्थल पर एफएसएल की टीम के द्वारा सैम्पल कलेक्ट किया गया है। लाश की पोस्टमार्टम रिपोर्ट एवं एफएसएल रिपोर्ट के आने के बाद कुछ और तथ्य क्लियर हो जायेगा।घटना के बाद मृत महिला मंजू देवी की पुत्री काजल देवी के फर्दव्यान के आधार पर प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। जिसमें गांव के ही गणपत कुंवर को आरोपित किया गया था। मामले की गंभीरता को देखते हुये सरायरंजन थाने की पुलिस टीम के द्वारा लगातार छापेमारी की गई। मानवीय आसूचना संकलन के आधार पर अभियुक्त गणपत कुंवर को गिरफ्तार किया गया। इस घटना के उदभेदन में सरायरंजन थानाध्यक्ष रविकांत कुमार के साथ सबइंस्पेक्टर सिम्पी कुमारी एवं परिपुअनि प्रिंस प्रशांत भारत की अहम भूमिका निभाई है।यहां बता दें कि सरायरंजन थाना क्षेत्र के झखरा गांव में रविवार की रात स्वर्गीय नवल किशोर झा की 58 वर्षीया पत्नी मंजू देवी की गर्दन काटकर हत्या कर दी गई थी। सोमवार की सुबह महिला की सिर कटी लाश उसके घर से 40-50 मीटर की दूरी पर पंकज झा के गेहूं के खेत में मिली थी। उसका सिर और धड़ दो हिस्सों में अलग अलग फेंका हुआ था। घटना की सूचना मिलते ही पूरे इलाके में सनसनी फैल गयी थी