जिला जेल में बंद मुस्लिम बंदी ने श्री राम मंदिर बनाकर अपने हुनर से सभी को आश्चर्यचकित कर दिया।

Breaking news

सहारनपुर
कहावत है कि प्रतिभा कभी भी परिस्थितियों की मोहताज नहीं होती। ऐसा ही कुछ
कर दिखाया है जनपद सहारनपुर की जिला जेल में हत्या के आरोप में सजा काट रहे एक मुस्लिम बंदी ने अपनी कारीगरी का एक अदभुत नमूना पेश कर सभी का मन जीत लिया है। अयोध्या में श्रीराम मंदिर की आधारशिला रखी ही गयी थी कि तभी सहारनपुर जेल में सजा काट रहे बंदी ने अपनी कारागिरी का वो नायाब पेशकश की जिसे कभी भुलाया नही जा सकता है, बन्दी ने वर्ष 2023 में श्रीराम मंदिर को लकड़ी पर नक्काशी कर हू-ब-हू बना दिया है। यह वैसा ही है जैसा अयोध्या में श्रीराममंदिर बनकर तैयार हो रहा है। आपको बतादें अयोध्या में 22 जनवरी को श्री रामलला की प्राण प्रतिष्ठा होनी है, ऐसे में देशभर में उत्सव का माहौल है, श्रीराम मंदिर को लेकर हिंदू-मुस्लिम समेत हर वर्ग के लोग उत्साहित हैं, उत्तर प्रदेश के सहारनपुर के जिला कारागार में हत्या के मामले में बंद कस्बा रामपुर मनिहारान निवासी मुस्लिम कैदी सदरुद्दीन उर्फ सदरू ने भी लकड़ी का श्री राम मंदिर बनाया है, उसने जेल में रहकर ये काम किया है। वरिष्ठ जेल अधीक्षक अमिता दुबे ने इस कार्य में उसका पूर्ण सहयोग किया। जेल में एक कार्यक्रम के दौरान प्रदेश के कारागार एवं होमगार्ड विभाग के राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) धर्मवीर प्रजापति भी श्रीराम का मंदिर देखकर चकित रह गए थे उन्होंने इसे बनाने वाले मुस्लिम बंदी को प्रोत्साहित किया था। अब बंदी का सपना है कि वह इस मंदिर को अपने हाथों से माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भेंट करे।